श्री आर. पी. गुप्ता
निदेशक

श्री आर.पी. गुप्ता, वर्ष 1987 बैच के गुजरात कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। आपने आईआईटी, कानपुर से वैमानिकी अभियंत्रण में बी.टेक किया है। अपने सेवाकाल के प्रारंभिक वर्षों के दौरान, जिला विकास अधिकारी, नगर पालिका आयुक्त, जिलाधिकारी आदि के सक्रिय कार्यक्षेत्रों में कार्य के साथ ही आप मुख्यतया शिक्षा, भूमि रिकॉर्ड व ऊर्जा क्षेत्र से नीति निर्माण स्तर पर जुड़े रहे हैं। प्रत्येक क्षेत्र में आपका मुख्य केंद्रबिंदु, प्रणालीगत व्यवस्थाएं व प्रणाली को और लोकहितैषी व जनता की आवश्यकताओं के अनुरूप बनाने के प्रति रहा है।

 

भूमि रिकार्ड के क्षेत्र में गावों के नक्शों व भूमि-खण्डों का डिजिटिलाइजे़शन किया गया व उनकी उपग्रह छायाचित्र प्रणाली के साथ समन्वय व भू-स्थिर टैगिंग की गई। इसी दौरान आधुनिक प्रौद्योगिकी का प्रयोग करते हुए गुजरात राज्य का पुन:सर्वेक्षण भी प्रारंभ किया गया।

शिक्षा के क्षेत्र में आपने, शिक्षकों की भर्ती के लिए पूर्णतया कंप्यूटराइज्ड प्रणाली प्रारंभ की जिससे राज्य सरकार द्वारा हजारों शिक्षकों की एक माह की अवधि के भीतर पूर्णतया योग्यता आधारित भर्ती की जा सकी। आपका एक अन्य महत्वपूर्ण योगदान गुजरात राज्य के लगभग 35000 सरकारी विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता की डिजिटाइज्ड रूप से वार्षिक आकलन की संकल्पना व इसे क्रियान्वित किया जाना रहा ताकि संपूर्ण राज्य के विद्यालयों की तहसील व जिला स्त‍र पर तुलना की जा सके व साथ ही समय के साथ इसमें हुए सुधार व गिरावट का पता लगाया जा सके अध्यापकों के कार्यनिष्पादन का आकलन किया जा सके ।

आप लगभग ढाई वर्षों तक गुजरात राज्य के कोयला मंत्रालय व ऊर्जा विभाग में भी कार्यरत रहे। आपने जन-वितरण प्रणाली (पीडीएस) से संबंधित सचिव, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति के पद पर भी कार्य किया है। इस पद पर कार्य करते हुए आपने, पीडीएस प्रणाली को खुदरा राशन दुकानों के स्तर से लेकर राज्य सरकार स्तर तक पूर्णतया कंप्यूटरीकृत करने के साथ-साथ बायोमीट्रिक प्रणाली से प्राधिकृत किए जाने का कार्य भी किया ताकि चोरी को रोका जा सके। इस पद पर कार्य करते हुए आपने खाना बनाने व रोशनी के लिए पीडीएस के माध्यम से एलपीजी व किरोसीन वितरण संबंधी कार्यदायित्वों का भी निर्वहन किया।

वर्तमान में आप नीति आयोग में अपर सचिव के पद पर कार्यरत हैं और आपके कार्यदायित्वों में आधारभूत संरचना-ऊर्जा, अंतरराष्ट्रीय सहयोग व ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में स्वास्थ्य, शिक्षा आदि प्रमुख हैं।

श्री आर.पी.गुप्ता को दिनांक 20 अक्तूबर, 2017 से एनपीसीआईएल निदेशक मंडल में अंशकालिक निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है।