श्री ए.के. बालासुब्रमण्यन
निदेशक, तकनीकी

श्री ए.के.बालासुब्रमण्‍यन, रीज़नल इंजीनियरिंग कॉलेज ( वर्तमान में एनआईटी), कोझीकोड से मैकेनिकल अभियांत्रिकी स्‍नातक हैं। बीएआरसी प्रशिक्षण विद्यालय से न्‍यूक्लियर विज्ञान एवं अभियांत्रिकी में एक-वर्षीय अभिमुखी पाठ्यक्रम पूर्ण करने के उपरांत आपने, वर्ष 1985 में परमाणु ऊर्जा विभाग के अधीन कार्यरत, तत्‍कालीन न्‍यूक्लियर पॉवर बोर्ड (वर्तमान में एनपीसीआईएल) में कार्यभार ग्रहण किया।

आपको न्‍यूक्लियर विद्युत रिएक्‍टरों के अभिकल्‍पन, विकास, अभियांत्रिकी, परियोजना-पूर्व अध्‍ययनों, अभिकल्‍पन संयोजनों, संरक्षा समीक्षा व तनाव विश्‍लेषण तथा भूकंपनीय योग्‍यताओं, प्रापण, निर्माण व कमीशनिंग के क्षेत्र में लगभग 33 वर्षों का अनुभव है। टीएपीएस- 3 व 4 में अपनी तरह की पहली रिएक्‍टर कंट्रोल व शटडाउन प्रणालियों के अभिकल्‍पन एवं विकास तथा क्रियान्‍वयन का श्रेय आपको जाता है। आपने दाबित भारी पानी रिएक्‍टरों(पीएचडब्‍ल्‍यूआर) एवं साधारण जल रिएक्‍टर (साजरि) दोनों प्रकार के रिएक्‍टरों की प्रणालियों की डिजाइन व अभियांत्रिकी पर कार्य किया है और आपको दोनों में विशेषज्ञता हासिल है। आपने, विनियामकीय कोड तैयार करने में योगदान दिया है और विभिन्‍न परियोजनाओं के लिए विनियामकीय अनुमतियां व सहमतियां प्राप्‍त करवाने में आपका विशेष योगदान रहा है। अंतरराष्‍ट्रीय रिएक्‍टर वेंडरों के साथ तकनीकी वार्ताओं के क्षेत्र में आपको विशेष अनुभव है।

श्री बालासुब्रमण्‍यन ने 220 मेगावाट, 540 मेगावाट एवं 700 मेगवाट दाबित भारी पानी रिएक्‍टरों(पीएचडब्‍ल्‍यूआर) तथा 1000 मेगावाट (केकेएनपीपी) साजरिएक्‍टरों के कार्यान्‍वयन में अपनी विशेषज्ञताओं वाले क्षेत्रों में महत्‍वपूर्ण योगदान दिया है। आपने, दाभापारिएक्‍टरों वाले विद्युत केंद्रों के सुरक्षित व निरंतर प्रचालन, विशेषत: कूलेंट चैनलों वाले क्षेत्र में विशेष योगदान किया है। श्री बालासुब्रमण्‍यन को एनपीसीआईएल तकनीकी श्रेष्‍ठता पुरस्‍कार व न्‍यूक्लियर विद्युत कार्यक्रम में उनके उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए अनेक अन्‍य एनपीसीआईएल पुरस्‍कारों से सम्‍मानित किया जा चुका है।

श्री ए.के.बालासुब्रमण्‍यन, परमाणु ऊर्जा विभाग के उत्‍कृष्‍ट वैज्ञानिक हैं। दिनांक 14 अगस्‍त, 2018 को, निदेशक (तकनीकी) के पद पर कार्यभार ग्रहण करने से पहले आप एनपीसीआईएल मुख्‍यालय में, अधिशासी निदेशक (अभियांत्रिकी) के कार्यदायित्‍वों का निर्वहन कर रहे थे, जहां पर आपके कार्यदायित्‍वों में, दाभापारिएक्‍टरों के अभिकल्‍पन व अभियांत्रिकी तथा कोर उपकरणों, ईंधन व ईंधन हैंडलिंग उपकरणों के प्रापण के दायित्‍व प्रमुख थे। आप, भारी पानी बोर्ड के निदेशक मंडल के सदस्‍य तथा एनपीसीआईएल-नालको पॉवर कंपनी लिमिटेड के निदेशक भी हैं।