डॉ. ए के मोहंती
निदेशक

डॉ. ए के मोहंती, सुविख्यात न्यूक्लियर भौतिकविद, ने 1979 में एमपीसी कॉलेज, बारीपाडा से अपनी स्नातक की डिग्री पूर्ण की तथा 1981 में रॉवेनशॉ कॉलेज, कटक, जो उस समय उत्कल विश्वविधालय, भुवनेश्वर के अंतर्गत था, से भौतिकी में स्नातकोत्तर की डिग्री पूर्ण की। डॉ मोहंती भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र प्रशिक्षण विधालय के 26वें बैच से ग्रेज्युएट हुए और आपने 1983 में भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र के नाभिकीय भौतिकी प्रभाग में कार्यभार ग्रहण किया और बाद में बॉम्बे विश्वविधालय से पीएचडी की डिग्री अर्जित की। आपने 12 मार्च, 2019 को निदेशक, भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र के रूप में कार्यभार ग्रहण किया। भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र के निदेशक के रूप में कार्यग्रहण करने से पूर्व डॉ. मोहंती जून, 2015 से साहा नाभिकीय भौतिकी संस्थान, कोलकाता के निदेशक पद पर आसीन थे।

पिछले 36 वर्षों के दौरान, डॉ. मोहंती ने नाभिकीय भौतिकी के कई क्षेत्रों में कार्य किया है जिनमें उप-कूलंब अवरोध से सापेक्षिकीय व्यवस्था में संघट्टन ऊर्जा शामिल है। इसमें टीआईएफआर में पेलेट्रॉन एक्सीलिरेटर का इस्तेमाल करते हुए प्रयोग तथा ब्रूकहैवन नेशनल लैबोरेटरी (बीएनएल), यूएसए और सीईआरएन, जेनेवा में क्रमश: फिनिक्स (पीएचईएनआईएक्स) और सीएमएस प्रयोग शामिल हैं। डॉ. मोहंती ने कई मानद पदों पर कार्य किया है। उदाहरण के लिए आपने वर्ष 2004-2010 तक बीआरएनएस बेसिक साइंस कमिटी के सचिव तथा सदस्य सचिव के रूप में, 2012-2016 तक भारतीय भौतिकी संघ (आईपीए) के महासचिव के रूप में तथा बाद में 2018 से आईपीए के अध्यक्ष के रूप में, भारत सीएमएस प्रवक्ता- 2013-2015 तथा डीन, शैक्षणिक, भौतिकीय व गणितीय विज्ञान, भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र, होमी भाभा राष्ट्रीय संस्थान के रूप में कार्य किया है।

डॉ. मोहंती ने अपने उत्कृष्ट कैरियर के दौरान कई पुरस्कार और सम्मान प्राप्त किए हैं। डॉ. मोहंती को प्राप्त पुरस्कार व सम्मान इस प्रकार हैं, परमाणु ऊर्जा विभाग की ओर से - 1979 में स्नातक में स्वर्ण पदक, भारतीय भौतिकीय सोसायटी का युवा वैज्ञानिक पुरस्कार (आईपीएस, कोलकाता, 1988), भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी द्वारा युवा भौतिकविद् पुरस्कार (आईएनएसए, नई दिल्ली, 1991) तथा परमाणु ऊर्जा विभाग, मुंबई द्वारा प.ऊ.वि. होमी भाभा विज्ञान व प्रौद्योगिकी पुरस्कार (2001)। सीईआरएन, जेनेवा में 2002 से 2004 के दौरान और उसके पश्चात पुन: 2010-2011 के दौरान आपको सीईआरएन साइंटिफिक एसोसिएट की पदवी भी प्रदान की गई।

डॉ. मोहंती 01 अप्रैल, 2019 से एनपीसीआईएल के बोर्ड में निदेशक हैं।