श्री रजनीश प्रकाश
स्वतंत्र निदेशक

विशिष्ट वैज्ञानिक श्री रजनीश प्रकाश, भारी पानी बोर्ड, परमाणु ऊर्जा विभाग, भारत सरकार के पूर्व अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी हैं। अपने कार्यकाल के दौरान, श्री रजनीश प्रकाश ने भारी पानी बोर्ड को ऊर्जावान नेतृत्व प्रदान किया जिससे भारतीय न्यूक्लियर विधुत कार्यक्रम को अत्याधिक बल प्राप्त हुआ।

श्री रजनीश प्रकाश, रुड़की विश्वविधालय, जो कि वर्तमान में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), रुड़की है, से रसायन अभियांत्रिकी में स्नातक हैं। आप, आईआईटी, दिल्ली से रासायनिक अभिक्रिया अभियांत्रिकी में परास्नातक भी हैं।

श्री रजनीश प्रकाश के विशेषज्ञता क्षेत्रों में (ए) पहले चरण के भारतीय न्यूक्लियर विधुत कार्यक्रम की सहायता के लिए व साथ ही प्रगत प्रौद्योगिकीयों एवं मानविकी विज्ञान में प्रयोग के लिए भारी पानी का औगिक स्तर पर उत्पादन (बी) न्यूक्लियर हाइड्रो धातुकर्म हेतु प्रगत पदार्थों जैसे सॉल्वेंट्स, 10B संवर्धित बोरोन व न्यूक्लियर ग्रेड सोडियम (द्रुत प्रजनक रिएक्टर कार्यक्रम की सहायता हेतु), ऑकसीजन-18 संवर्धित पानी ( पीईटी स्कैनिंग के लिए रेडियो-अन्वेषण तकनीक), गैर-पारंपरिक स्रोतों से दुर्लभ धातुएं तथा (सी) विशाल रसायन उोग इकाइयों का उनके अभिकल्पन, निर्माण से प्रचालन तक प्रबंधन, शामिल हैं।

श्री रजनीश प्रकाश को अनेकों सम्मानों व कीर्ति-पुरस्कारों, जैसे इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स द्वारा "आउटस्टैंडिंग इंजीनियर अवार्ड", भारतीय प्रौद्योगिकी कांग्रेस, 2013 के दौरान "टेक्नोलोजी एक्सीलेंस अवार्ड- स्ट्रैटेजिक मैटेरियल्स", 29वें भारतीय प्रौद्योगिकी कांग्रेस द्वारा " इन्वायरमेंटल इंजीनियरिंग डिजाइन अवार्ड ", 15वें वार्षिक ग्रीनटेक इन्वायरमेंट व सीएसआर-2014 सम्मेलन के दौरान " ग्रीनटेक लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड " तथा भारतीय न्यूक्लियर सोसाइटी द्वारा " आईएनएस होमी भाभा लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड-2014 " से, सम्मानित किया जा चुका है।

श्री रजनीश प्रकाश को 31 अक्तूबर, 2019 से एनपीसीआईएल निदेशक मंडल में स्वतंत्र निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है।