श्री राजनाथ राम
निदेशक

श्री राजनाथ राम, आईआईटी (आईएसएम), धनबाद से पेट्रोलियम अभियांत्रिकी में बी.टेक. तथा फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज़ (एफएमएस), दिल्ली विश्वविधालय से एम.बी.ए. हैं। आप, वर्ष 1997 में सरकारी सेवा में आए। ऊर्जा क्षेत्र में आपको 23 वर्षों से भी अधिक अवधि का समृद्ध अनुभव है। वर्तमान में आप, नीति आयोग में सलाहकार (ऊर्जा) के पद पर हैं और नीति आयोग में ऊर्जा मॉडेलिंग, जीआईएस मैपिंग व एनर्जी डाटा यूनिट के प्रमुख हैं। ऊर्जा, तेल व गैस, विधुत, अक्षय ऊर्जा व परमाणु ऊर्जा से संबंधित नीति निर्माण, दीर्घकालिक रणनीति, आप के दायित्वों में शामिल हैं।

आप, ऊर्जा क्षेत्र के विभिन्न आयामों जैसे, लोक नीति/कार्यक्रम विश्लेषण व रिपोर्ट लेखन, नीति निर्माण (ऊर्जा, तेल व गैस, अक्षय ऊर्जा), योजना/परियोजना मूल्यांकन व आकलन, तेल व गैस तकनीकी संरक्षा मानक निर्माण, शोध निधिकरण हेतु सैद्धांतिक शोध क्षेत्रों की पहचान, तेल व गैस कार्यक्रम व नीति मूल्यांकन, अक्षय ऊर्जा कार्यक्रम व नीतियां, ऊर्जा, ऊर्जा डाटा प्रबंधन व इंडिया एनर्जी डैशबोर्ड से संबंधित द्विपक्षीय सहयोग/चर्चा आदि में व्यावसायिक कौशल रखते हैं।

ऊर्जा क्षेत्र में आपके व्यापक अनुभव में, देश के लिए मसौदा राष्ट्रीय ऊर्जा नीति निर्धारण में आपके द्वारा किए गए कार्य, "इनहैंसिग डोमेस्टिक एक्सप्लोरेशन एण्ड प्रोडक्शन ऑफ ऑयल एण्ड गैस" की उच्च स्तरीय समिति के लिए सहयोग, आदि शामिल हैं। श्री राजनाथ राम, जल शक्ति अभियान के दल के सदस्य थे। आपने, एकीकृत ऊर्जा नीति, 2008 को अंतिम रूप देने में समन्वयन का दायित्व निभाया है। आपने, इंडिया एनर्जी सिक्यूरिटी सिनैरियो-2047 (वी-2) एनर्जी मॉडल को तैयार करने व इसे अंतिम रूप दिए जाने में भूमिका अदा की है।

श्री राजनाथ राम ने पीएनजीआरबी में अनेक तकनीकी उप-समितियों की अध्यक्षता की है और तेल व गैस क्षेत्र के लिए आपात प्रत्युत्तर एवं आपदा प्रबंधन योजना (ईआरडीएमपी) सहित पाइप लाइनों से संबंधित अनेक विनियिामकों को अंतिम रूप दिया है। श्री राजनाथ राम ने, 8 राज्यों के आरई-आगामी खाका विकास के लिए दस्तावेज तैयार करना एवं 6 राज्यों के ऊर्जा कैलकुलेटर विकास में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया है । आपने, प्रयास एनर्जी ग्रुप के साथ इंडिया एनर्जी डैशबोर्ड के सृजन का काम-काज देखा है। आपने, ऊर्जा, जल, भोजन- पारस्परिक संबंध व परिवहन क्षेत्र के वि-कार्बनीकरण हेतु, शोध अध्ययन किया है। आप, भारत-चीन रणनीतिक वार्ता, भारत-अमेरिका ऊर्जा वार्ता, भारत-ऑस्ट्रेलिया ऊर्जा वार्ता, स्वच्छ ऊर्जा मंत्रिपरिषद में शामिल रहे हैं।

आप, भारतीय शिष्ट मंडल के सदस्य बतौर, अनेक अध्ययन दलों में शामिल रहे हैं जैसे कि ‘शेल गैस अध्ययन’ के लिए अमेरिका गए दल, ‘अमेरिका में बायो-एनर्जी व सोलार रेगुलेटरी सिस्टम’ तथा ‘पाइपलाइन डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम’ के प्रौद्योगिकी आकलन हेतु डॉ. कस्तूरीरंगन के नेतृत्व में गए भारतीय दल आदि। वाशिंगटन डीसी में आयोजित, इंडो-यूएस एनर्जी डायलॉग 2015 के अंतर्गत, ऊर्जा आंकड़े प्रबंधन, यूएस ग्रेन्स काउंसिल के सहयोग से बायो-एथेनाल उत्पादन व इसके वाणिज्यिक पहलू पर विचार करने हेतु बनाए गए भारतीय उप-समूह का आपने नेतृत्व किया। ग्लोबल इंटरप्रेन्योरशिप सम्मिट-2017 का आयोजन करने के लिए नीति आयोग द्वारा आपको, आयोजन दल में सम्मिलित किया गया।आपने, तुर्की में आयोजित जी-20 समूह में, संयुक्त राज्य अमेरिका में एसजीडब्ल्यू बैठक में, इंग्लैंड के एनर्जी कैलकुलेटर में, भारत का प्रतिनिधित्व किया है। श्री राजनाथ राम, 25 अगस्त, 2020 से एनपीसीआईएल निदेशक मंडल में निदेशक हैं।